You are here
Home > Sports

World Cup 2019: दिनेश कार्तिक का छलका दर्द, धोनी के रहते मैं तो छोटी सी ‘फर्स्ट एड किट’ हूं

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के बुखार के बीच आागामी 30 मई से शुरू हो रही क्रिकेट के महाकुंभ, आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 के लिए 15 सदस्यीय टीम इंडिया का चयन हुआ. इस चयन में सबसे ज्यादा चर्चा ऋषभ पंत को न चुने जाने को और उनकी जगह दिनेश कार्तिक को चुने जाने की थी. दिनेश कार्तिक टीम में चुने जाने से खुश तो हैं, लेकिन उन्होंने अपनी भूमिका को लेकर बड़ा बयान दिया है.

केवल बैकअप विकेटकीपर?
वर्ल्ड कप के लिए टीम में वैसे तो विकेट कीपर के लिए एमएस धोनी पहली पसंद हैं. अब टीम में एक बैकअप विकेटकीपर की जरूरत थी तो इसके लिए पंत और दिनेश कार्तिक के बीच मुकाबला था. दोनों ही अच्छे विकेटकीपर तो हैं, लेकिन धोनी से बेहतर नहीं. वहीं बल्लेबाजी में भी दोनों ही बढ़िया बल्लेबाज हैं, लेकिन धोनी के मुकाबले दोनों कहीं नहीं ठहरते. पंत का करियर तो अभी ही शुरू हुआ है. अब धोनी के रहते कार्तिक की टीम में क्या भूमिका होगी इसी पर कार्तिक ने बयान दिया है.

चयन पर खुशी तो बहुत हुई क्योंकि…
जब टीम की घोषणा हुई तो कार्तिक कोलकाता में थे. खुद कार्तिक ने बताया कि टीम में चयन होने से उन्हें कितनी खुशी हुई. 12 साल बाद वर्ल्ड कप टीम इंडिया में जगह बनाने वाले दिनेश कार्तिक ने बताया कि कैसे उनकी वर्ल्ड कप टीम में जगह बनी. 2017 में वे टीम इंडिया में वापस आए और उसके बाद जब 2018 के अंत में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जब टीम इंडिया का चयन हुआ तो उसमें उनकी जगह ऋषभ पंत का नाम था. चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने उस समय कार्तिक से बातचीत की थी.

यह योजना थी चयन समिति की
कार्तिक ने बताया कि उस समय प्रसाद ने उन्हें चयन समिति की योजना के बारे में बताते हुए कहा था कि वे दोनों ही (कार्तिक और पंत) विकेटकीपरों को समान अवसर देना चाहते हैं. इसलिए ऑस्ट्रेलिया न्यूजीलैंड के दौरे और फिर ऑस्ट्रेलिया के भारत दौरे के लिए उन्हें (दिनेश) नहीं पंत को चुना जा रहा है. कार्तिक ने कहा, “मुझे उनकी यह साफगोई पसंद आई.”

चयनकर्ता प्रमुख ने की थी स्थिति स्पष्ट
प्रसाद पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि कार्तिक धोनी के बैकअप विकेटकीपर हैं. कार्तिक ने इस भूमिका को स्वीकार किया है. कार्तिक ने हलके मूड में कहा, “जहां तक धोनी का सवाल है तो उनके रहते मैं केवल फर्स एड किट रहूंगा जो कि टीम के साथ सफर करेगी. यदि वे (धोनी) चोटिल होते हैं तो मैं एक दिन के लिए खेल सकूंगा.” फिर थोड़ा गंभीर होते हुए कार्तिक ने कहा, “मुझे पता है कि मैं 4 नंबर पर बढ़िया बल्लेबाजी कर सकता हूं और फिनिशर की भी भूमिका निभा सकता हूं. मैं पहले ऐसा कर भी चुका हूं”

पहले ही अपने हुनर का लोहा मनवा चुके हैं कार्तिक
उल्लेखनीय है कि कार्तिक ने 2018 में श्रीलंका में हुई निदहास ट्रॉफी फाइनल में शानदार प्रदर्शन करते हुए टीम इंडिया को अविश्वनीय जीत दिलाई थी. इसके बाद भी, नियमित तौर पर तो नहीं, लेकिन कई मौकों पर टीम इंडिया के लिए कार्तिक बढ़िया प्रदर्शन कर चुके हैं. इसके अवाला वे कई बार धोनी के टीम में रहते ही शामिल किए जा चुके हैं. वहीं ऋषभ पंत पिछले कुछ समय से कई बार गैर जिम्मेदाराना शॉट्स खेलकर आउट होते दिखे हैं.

पंत से इस मामले में बात नहीं हुई
पंत और कार्तिक के बीच में चयन को लेकर चलरहे मुकाबले पर कार्तिक ने कहा हमारे बीच इसको लेकर कभी कोई बातचीत नहीं हुई. किसी न किसी को तो बाहर होना ही है. हम दोनों अपने अवसरों से बखूबी वाकिफ हैं. वह बहुत खास खिलाड़ी है. वह टीम इंडिया के लिए लंबे समय तक खेलेगा.” विजय शंकर के टीम में आने पर कार्तिक ने खुश होकर कहा अब टीम में एक और तमिल होने से मुझे इडली डोसा खाने के लिए एक साथी मिल गया है.

Leave a Reply

Top